Advantages-of-database-management-system

Advantages of Database Management System

Advantages of Database Management System:-एक Database Management System (DBMS) को सॉफ्टवेयर सिस्टम के रूप में परिभाषित किया गया है जो user को डेटाबेस तक पहुंचने, बनाने, बनाए रखने और नियंत्रित करने की अनुमति देता है।

DBMS database में डेटा बनाने, पढ़ने, अपडेट करने और हटाने के लिए user के लिए संभव बनाता है। यह प्रोग्राम और डेटा के बीच की एक layer है।

File-Based Data Management System की तुलना में, Database Management System के कई फायदे हैं। इनमें Advantages of Database Management System नीचे दिए गए हैं –

Reducing Data Redundancy

File Based Data Management System में कई फाइलें थीं जो एक सिस्टम में या कई प्रणालियों में कई अलग-अलग स्थानों में संग्रहीत थीं।

इस वजह से, कभी-कभी एक ही फ़ाइल की कई प्रतियां होती थीं जो Data Redundancy की ओर ले जाती हैं।

इसे database में रोका जाता है क्योंकि एक ही डेटाबेस होता है और इसमें कोई भी बदलाव तुरंत reflect होता है। इस वजह से, डुप्लिकेट डेटा का सामना करने का कोई मौका नहीं है।

Sharing of Data

एक database में, database के Users data को आपस में साझा कर सकते हैं। Data तक पहुंचने के लिए authorization के विभिन्न स्तर हैं, और इसके परिणामस्वरूप, डेटा को केवल सही authorization प्रोटोकॉल के आधार पर साझा किया जा सकता है।

कई remote users database को एक साथ use कर सकते हैं और अपने बीच डेटा साझा कर सकते हैं।

Data Integrity

Data integrity का अर्थ है कि डेटा डेटाबेस में सटीक और तर्कयुक्त है। Data integrity बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि एक DBMS में कई डेटाबेस होते हैं।

इन सभी डेटाबेस में कई users को दिखाई देने वाला डेटा होता है। इसलिए यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि डेटा सभी डेटाबेस में और सभी users के लिए सही और तर्कयुक्त(consistent) हो।

Data Security

Data Security database में एक महत्वपूर्ण अवधारणा है। केवल authorized user को डेटाबेस तक पहुंचने की अनुमति दी जानी चाहिए और user नाम और पासवर्ड का उपयोग करके उनकी पहचान को प्रमाणित किया जाना चाहिए।

Unauthorized user को किसी भी परिस्थिति में database तक पहुंचने की अनुमति नहीं दी

Privacy

किसी डेटाबेस में गोपनीयता नियम का मतलब केवल authorized user ही अपनी गोपनीयता की कमी के अनुसार डेटाबेस तक पहुँच सकते हैं।

डेटाबेस एक्सेस के स्तर हैं और एक user केवल उस डेटा को देख सकता है जिसकी उसे अनुमति है।

उदाहरण – सोशल नेटवर्किंग साइटों में, उपयोग की बाधाएं अलग-अलग खातों के लिए अलग-अलग होती हैं, जिन्हें कोई user एक्सेस करना चाहता है।

Backup and Recovery

Database Management System स्वचालित रूप से बैकअप और रिकवरी का ख्याल रखता है। User को समय-समय पर डेटा बैकअप की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि यह DBMS द्वारा ध्यान रखा जाता है।

इसके अलावा, यह एक क्रैश या सिस्टम की पिछली स्थिति में विफलता के बाद डेटाबेस को पुनर्स्थापित भी करता है।

Data Consistency

Database में डेटा की निरंतरता सुनिश्चित की जाती है क्योंकि कोई डेटा अतिरेक नहीं है। सभी डेटा डेटाबेस में लगातार दिखाई देते हैं और डेटा डेटाबेस को देखने वाले सभी उपयोगकर्ताओं के लिए समान है।

इसके अलावा, डेटाबेस में किए गए किसी भी परिवर्तन को तुरंत सभी उपयोगकर्ताओं को प्रतिबिंबित किया जाता है और कोई डेटा असंगति नहीं होती है।

For more interesting Articles Click Here

For more interesting Articles Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *